Home मनोरंजन सोशल मीडिया और ओटीटी प्लेटफॉर्म के लिए सरकार ने जारी किए नए...

सोशल मीडिया और ओटीटी प्लेटफॉर्म के लिए सरकार ने जारी किए नए नियम

सोशल मीडिया और ओटीटी प्लेटफॉर्म
Image Courtesy: Yahoo Movies

सोशल मीडिया और ओटीटी प्लेटफॉर्म के लिए आज केंद्र सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी की है। इसके तदायरे में फेसबुक, ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स और नेटफ्लिकस, अमेजन प्राइम, हॉटस्टार जैसे ओटीटी प्लेटफॉर्म्स आएंगे। सरकार ने इसे डिजिटल मीडिया एथिक्स कोड नाम दिया है, जिसमें सोशल मीडिया और ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को रेगुलेट करने के लिए नियम बनाए गए हैं। केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावेड़कर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारत में इस समय देश में इस वक़्त व्हॉट्सऐप यूज़र्स की संख्या 53 करोड़, यूट्यूब यूज़र्स की संख्या- 44.8 करोड़, फ़ेसबुक यूज़र्स की संख्या 41 करोड़, ट्विटर यूज़र्स की संख्या 1.75 करोड़ और इंस्टाग्राम यूज़र्स की संख्या 21 करोड़ हैं।
सोशल मीडिया कंपनियों का बिज़नेस के लिए भारत में स्वागत है, इसकी हम तारीफ करते हैं। व्‍यापार करें और पैसे कमांए। लेकिन सोशल मीडिया में ऐसे ऐसे प्रेजेंटेशन आ रहे हैं, जो किसी भी तरह से सभ्य नहीं कहे जा सकते हैं, ऐसी शिकायतें हमारे पास बहुत आईं थीं। सोशल मीडिया यूजर्स की समस्या के लिए फोरम होना चाहिए। इसलिए मीडिया के हर प्लेटफॉर्म के लिए नियम जरूरी है।

नए दिशा-निर्देशों के अनुसार शिकायत के 24 घंटे के अंदर इंटरनेट मीडिया से आपत्तिजनक कंटेंट को हटाना होगा। किसी विवादित कंटेंट को लेकर अधिकारियों की जांच में सहयोग के लिए इन कंपनियों को 72 घंटों के भीतर सभी जरूरी जानकारी देनी होगी। इसके अलावा अगर सोशल मीडिया पर कोई पोस्ट किसी व्यक्ति को सेक्सुअल एक्ट में दर्शाती है, तो कंपनियों को शिकायत मिलने के एक दिन के भीतर ऐसी पोस्ट को हटाना होगा।
सोशल मीडिया को दो श्रेणियों में बांटा गया है, एक इंटरमीडरी और दूसरा सिग्निफिकेंट सोशल ​मीडिया इंटरमीडरी।सिग्निफिकेंट सोशल ​मीडिया इंटरमीडरी पर अतिरिक्त कर्तव्य है, हम जल्दी इसके लिए यूजर संख्या का नोटिफिकेशन जारी करेंगे। सिग्निफिकेंट सोशल ​मीडिया के कानून को हम तीन महीने में लागू करेंगे।

ये भी पढ़ें- ‘उत्तर-दक्षिण’ वाले बयान पर घिरे राहुल गांधी, सियासत काफी गर्म

Exit mobile version